मुख्यमंत्री ने पंचकूला में मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल की रखी आधारशिला

मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल का नाम डॉ. मंगल सेन के नाम पर रखा जाएगा - मनोहर लाल मेडिकल कॉलेज में 100 एमबीबीएस सीटें होंगी, 800 करोड़ रुपये की लागत से 30 महीने में पूरा होगा निर्माण 22 जनवरी को प्रदेश में शराब की दुकानें रहेंगी बंद

चंडीगढ़, 15 जनवरी- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज पंचकूला के सेक्टर-32 में 30 एकड़ भूमि पर 800 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल की आधारशिला रखी।

        मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) द्वारा बनाए जाने वाले नए मेडिकल कॉलेज और अस्पताल का नाम डॉ. मंगल सेन के नाम पर रखा जाएगा। प्रारंभिक चरण में 500 करोड़ रुपये की राशि  खर्च की जाएगी और इस परियोजना पर 300 करोड़ रुपये के अतिरिक्त व्यय का अनुमान है । पूरी परियोजना 30 महीने के भीतर पूरी होने की उम्मीद है। इस मेडिकल कॉलेज में  100 एमबीबीएस सीटें होंगी।

        मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में सत्ता संभालने के बाद, हमने राज्य के प्रत्येक जिले में एक मेडिकल कॉलेज और अस्पताल स्थापित करने की घोषणा की थी। दो जिलों चरखी दादरी और पलवल को छोड़कर हर जिले में मेडिकल कॉलेज और अस्पताल स्थापित किए गए हैं। जिनमें से 6 सरकारी, 1 सहायता प्राप्त और 8 निजी सहित कुल 15 पहले ही संचालित हो चुके हैं । शेष जिले में मेडिकल कॉलेज प्रारंभ करने की प्रक्रिया चल रही है।

        एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में राज्य में 6 मेडिकल कॉलेज थे।   2014 और 2019 के बीच यह संख्या बढ़कर 12 हो गई, जो 2019 से वर्तमान तक 15 तक पहुंच गई है। सभी के पूरा होने पर भविष्य में मेडिकल कॉलेज की संख्या बढ़कर 29 हो जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी मेडिकल कॉलेजों के पूरा होने पर राज्य में एमबीबीएस सीटों की कुल संख्या 3500 तक पहुंच जाएगी।

         स्वास्थ्य पेशेवरों के महत्व पर प्रकाश डालते हुए मुख्यमंत्री ने कहा  कि इन मेडिकल कॉलेज के संचालित होने के बाद राज्य का हर वर्ष 3500 डॉक्टर मिलेंगे। इसके अतिरिक्त, विशेष डॉक्टरों की आवश्यकता को पूरा करते हुए पीजी सीटों की संख्या 851 से बढ़कर 1200 हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इन मेडिकल कॉलेजों के अंदर पैरा-मेडिकल कॉलेज और फिजियोथेरेपी कॉलेज भी स्थापित किये जायेंगे।  इस व्यापक दृष्टिकोण का उद्देश्य राज्य में सामान्य और विशिष्ट चिकित्सा पेशेवरों दोनों की कमी को दूर करना है।

        मुख्यमंत्री ने खुलासा किया कि युगांडा सहित कुछ अफ्रीकी देशों ने हरियाणा के साथ समझौते करने और अपने छात्रों को एमबीबीएस पाठ्यक्रमों के लिए हरियाणा भेजने में रुचि व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि युगांडा की जनसंख्या हरियाणा के बराबर है लेकिन वहां पर केवल दो मेडिकल कॉलेज हैं।

        मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी देश के का मानना है की देश में प्रत्येक व्यक्ति स्वस्थ और फिट हो । इसी दृष्टिकोण के अनुरूप पूरे राज्य में मेडिकल कॉलेज स्थापित किये जा रहे हैं। प्राकृतिक उपचार के लिए कुरूक्षेत्र में श्री कृष्णा  आयुर्वेद विश्वविद्यालय के अलावा पंचकूला में आयुष एम्स स्थापित किया गया है। इसके अतिरिक्त, कुटैल में कल्पना चावला स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय संचालित हो रहा है। समग्र दृष्टिकोण पर जोर देते हुए गांवों में व्यायामशालाएं और खेल नर्सरी भी स्थापित की गई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि गांवों की मैपिंग कर इस वर्ष राज्य के 300 गांवों में स्टेडियम, नर्सरी सहित अन्य  खेल सुविधाएं स्थापित की जाएंगी।

        प्रधानमंत्री के धार्मिक स्थलों पर स्वच्छता कार्य के आह्वान के संबंध में पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में श्री मनोहर लाल ने कहा कि 14 जनवरी से 22 जनवरी तक इस नेक अभियान की शुरुआत की गई है । इस अवधि में धार्मिक स्थानों पर पूजा पाठ  और स्वच्छता गतिविधियां चलाना शामिल है। उन्होंने प्रत्येक परिवार को 22 जनवरी को घर पर ‘दीपोत्सव’ में भाग लेने का भी आह्वान  किया। इसके अतिरिक्त, लोगों को प्राण प्रतिष्ठा समारोह से जोड़ने की सुविधा के लिए शैक्षणिक संस्थानों और अन्य स्थानों पर लाइव प्रसारण की व्यवस्था करने पर भी विचार किया जा रहा है।

        एक अन्य प्रश्न के उत्तर में मुख्यमंत्री ने कहा कि 22 जनवरी को राज्य में  शराब की सभी दुकानें बंद रहेंगी।

        मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का उद्घाटन कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है यह तो लोगों आस्था से जुड़ा  है। उन्होंने कहा कि जो लोग आस्था से दूर होने का फैसला करेंगे, उन्हें जनता दूर कर देगी।

        इस अवसर पर हरियाणा विधान सभा अध्यक्ष श्री. ज्ञान चंद गुप्ता, मेयर, पंचकुला श्री कुलभूषण गोयल, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार श्री. बी.बी. भारती, मुख्य प्रशासक एचएसवीपी श्री टीएल सत्यप्रकाश, उपायुक्त श्री सुशील सारवान, पुलिस उपायुक्त श्री सुमेर प्रताप सिंह, प्रशासक मुख्यालय एचएसवीपी पंचकुला श्री सचिन गुप्ता, मीडिया सचिव श्री प्रवीण अत्रे, प्रचार सलाहकार श्री तरूण भंडारी एवं जिला प्रशासन के अधिकारी भी उपस्थित थे।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.